राज्य कर्मचारियों का आंदोलन आज से शुरू

राज्य कर्मचारियों का आंदोलन आज से शुरू, बाहों में काली पट्टी बांधकर जताया विरोध

राज्य कर्मचारियों का आंदोलन मंगलवार को फिर से शुरू हो गया है. पहले चरण में कर्मचारियों ने बाहों पर काली पट्टी बांधकर अपना विरोध जताया, जो बुधवार तक चलेगा. इसी तरह ये आंदोलन चरणबद्ध रूप से 24 फरवरी तक जारी रहेगा.

मंगलवार को राजधानी देहरादून और नैनीताल समेत प्रदेश के सभी जिलों में कर्मचारियों का विरोध देखने को मिला. कर्मचारी नेता सुभाष देवलियाल ने कहा कि यदि सरकार ने निर्धारित तिथि के भीतर उनकी मांगों पर विचार नहीं किया तो 24 फरवरी को प्रदेशभर में महारैली निकालेंगे. इसके बाद प्रांतीय संगठन के आह्वाहन के बाद वो आगे की रणनीति तय करेंगे.

बता दें कि राज्य कर्मचारियों ने सातवें वेतन आयोग की संस्तुति को लागू करने के साथ दस सूत्रीय मांगों को लेकर बीती 31 जनवरी को सामूहिक अवकाश किया था. उधर सरकार ने इस विरोध प्रदर्शन को खत्म करने के लिए नो वर्क नो पे का शासनादेश जारी कर दिया था.

इसके बावजूद आवश्यक सेवाओं को छोड़कर बाकी सभी विभागों के कर्मचारी अवकाश पर रहे थे. सरकार ने सख्त रूख अपनाते हुए आंदोलन कर रहे कर्मचारियों का जनवरी माह का वेतन रोक दिया था. इसी के साथ कैबिनेट बैठक में 31 जनवरी को अवकाश पर रहे कर्मचारियों को उस दिन का वेतन मिलेगा या नहीं इस पर कोई फैसला नहीं लिया था. जिससे कर्मचारियों में काफी रोष है. मंगलवार से कर्मचारियों ने चरणबद्ध रूप से अपना आंदोलन शुरू कर दिया है.

ये है आंदोलन की रूपरेखा
12 व 13 फरवरी: दो दिन कर्मचारी बाहों में काली पट्टी बांधकर सांकेतिक विरोध जताएंगे.15 फरवरी : सभी जनपद एवं शाखाओं में शाम साढ़े छह बजे कर्मचारी कैंडल मार्च निकालेंगे.24 फरवरी : सभी जनपद एवं शाखाओं में कर्मचारी जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपेंगे.24 फरवरी : इसी दिन कोई ठोस आश्वासन न मिलने पर समिति के संयोजक मंडल द्वारा प्रदेशव्यापी महारैली की तिथि की घोषणा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *